Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks

Thursday, March 12, 2015

ऊर्जा संरक्षण टिप्स : एक कदम ऊर्जा संरक्षण की ओर !

SHARE

दोस्तों आज के समय में  ऊर्जा के बढ़ती  खपत को ध्यान में रखते हुए ऊर्जा का संरक्षण बहुत ही जरूरी है .जैसा की हम जानते हैं की ऊर्जा की खपत मुख्यत : दो जगहों पर होती है।  एक तो हम सबके घरो में ओर दुसरे उधोगो में .तीसरे  शहरी क्षेत्रो में रात के समय में सड़को पर रौशनी करने में भी इसकी खपत होती है।  ऐसे में हम ऊर्जा संक्षरण के छोटे छोटे आसान उपयो को अपनाकर ऊर्जा संरक्षण में अपना योगदान दे सकते हैं।  आज हम इस लेख में इन आसान उपायो के बारे में जानेंगे जिनको अपने व्यवहार ओर आदत में शामिल कर हुमा अपने घरो में और  उधोगो में ऊर्जा बचा सकते है। 

घरो में ऊर्जा संक्षरण के कुछ आसान उपाय  


ऊर्जा बचत का सीधा मतलब है पैसे की बचत। कभी कभी जब हमारा बिजली का बिल ज्यादा आता है तो हम मन ही मन उसको देखकर सोच रहे होते हैं की काश थोड़ी सी सावधानी बरती होती तो कुछ कम पैसों का बिल आता। लेकिन ये बात तब तक ही हमारे और आपके दिमाग में रहती है जब तक वो बिल हमारे हाथ में होता है। उसके बाद वही पुरानी आदतें, तो बिजली बचाने की नयी आदतों को अपनाकर आप   और  हम ,अपने आने वाले बिजली के बिल को हल्का कर सकते हैं।  



आइए जानते हैं कुछ ऐसी बातों को जिनको ध्यान में रखकर हम बिजली बचाकर पैसे की बचत कर सकते हैं।

1. एक बत्ती यहाँ फालतू जल रही है, उधर पंखा घूम रहा है लेकिन आदमी कोई नहीं है अगर आपको अपने घर में कहीं ऐसा नजारा दिखाइए दे तो इनके स्विच को तुरंत बंद कर दें। 

2. पुराने अधिक बिजली खाने वाले बल्बों की जगह पतली आधुनिक टियूब लाइट लगाएं, यहाँ  थोड़ा ध्यान दे
कि  36  वाट  की स्लिम टियूब लाइट 100  वाट के बल्ब से दोगुनी रौशनी देती है और इस बल्ब के मुकाबले 50 प्रतिशत से ज्यादा बिजली की बचत करती है। 

3. एक बात यह भी ध्यान रखने वाली है की अगर आपके कमरों का रंग हल्का है तो कम वाट की टियूब लाइट या बल्ब से भी आपको कमरे में काफी रौशनी दिखाई देगी। 

4. वॉशिंग मशीन को सही लोड पर ही चलायें, मिक्सी का रोज-रोज इस्तेमाल न करें। हो सके तो जरूरत के सभी मसालों को एक बार मिक्सी शुरू करने के बाद ही कूटें। अलग-अलग मसालों के लिए हर दिन बार बार मिक्सी को चालू और बंद न करे। 

5. यदि आप ए.सी. का उपयोग करते हैं तो इसे रोजाना एक दो घंटा कम चलायें, समय से एक घंटा पहले बंद कर दें, स्विच बंद करने के बाद कमरे की खिड़कियों को कुछ देर तक बंद रखे ताकि कमरे की ठंडक कुछ देर तक बनी रहे इससे बिजली में काफी बचत होगी।  

6. समय समय पर फ्रिज की सी और गैसकेट लाइन चेक करें, फ्रिज को बार बार न खोलें, फ्रिज के थर्मोसेट को मौसम के हिसाब से सेट करें। 

7. कूलर, ए.सी., पम्प, प्रेस और बिजली के अन्य उपकरणों को खरीदते समय "आई.एस.आई" और  "बी.ई.ई." का लेबल जरूर देख लें। इस लेबल का मतलब है की ये लेबल वाले उपकरण प्रयोग के लिए सही हैं और बिजली बचत के मापकों को ध्यान में रखकर बनाये गए हैं। 

8. बजली के भारी और अधिक खपत वाले उपकरण शाम को 6  से 9 बजे के बीच प्रयोग न करें क्योंकि इस समय के दौरान बिजली की मांग बहुत ज्यादा रहती है। 

9. अपने घर के फर्नीचर और अन्य सामान को इस तरह व्यवस्तिथ करें ताकि पढ़ने लिखने, खाना खाने, सिलाई कड़ाई जैसी जगहों पर रौशनी सही से पड़े। जबकि टी.वी. देखने, बातचीत करने जैसी जगहों पर कम रौशनी मतलब कम वाट की लाइट से भी काम चलाया जा सकता है।

10.सौर ऊर्जा से संचालित यंत्रो को अपनाकर भी हम ऊर्जा संरक्षण में अपना योगदान दे सकते हैं। 


उधोगो  के लिए ऊर्जा संरक्षण के आसान उपाय 



हमारे देश में बनने वाली कुल  बिजली का एक बहुत बड़ा हिस्सा उधोगो में खर्च होता है।  ऐसे में उधोग मालिक

 और उधोग प्रबंधन कर्ताओ को ऊर्जा संक्षरण हेतु ध्यान देना जरूरी है।  


                             



उधोगो में ऊर्जा संक्षरण के कुछ आसान उपाय इस प्रकार हैं -

  • समय समय पर औधोगिक परिसर में प्रचलित यंत्रो की ऊर्जा खपत , उनके परिणाम का विश्लेषण करे। 

  • तिमाही , छमाही और वार्षिक स्तर पर ऊर्जा बचत का एक लक्ष्य निर्धारित करे और इस हेतु नियम बनाये। 

  • मोटर ऊर्जा की काफी खपत करती हैं इसलिए सही आकर की आई .एस.आई. लेबल वाली मोटर ही प्रयोग करे। 

  • औधोगिक परिसर में बल्बो की जगह ऊर्जा दक्ष लाइटों का उपयोग करे। 

  • सौर ऊर्जा पर आधारित सयन्त्रों का उपयोग करे। 

  • कार्य के सामने समय के बाद अनावश्यक लाइट्स , कंप्यूटर, पंखे इत्यादि बंद रखे। 

  • बिजली की खपत को मॉनिटर करने के लिए नियंत्रक लगाए। 

  • किसी कर्मचारी को ऊर्जा प्रबंधक के रूप में नियक्त करे।  

  • ऊर्जा प्रबंधक प्रायोगिक प्रशिक्षण व्यस्था करे। 

  • ऊर्जा प्रबंधक एक विस्तृत मॉनिटरिंग और रिपोर्टिंग प्रारूप बनाये जिसके आधार  पर ये सुनिश्चित किया जा सके की ऊर्जा की कहप्त न्यूनतम स्तर पर हो रही है या नही। 

 याद रखे बिजली की बचत ही बिजली का उत्पादन है। ये लेख  "राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण  अभियान" से प्रेरित है। 

नोट : इस ब्लॉग के फेसबुक पेज के लिए ब्लॉग पर ऊपर दाई तरफ दिए गए फेसबुक बटन को लाइक करे। 

कंप्यूटर साइंस से सम्बंधित आर्टिकल पढ़ने के लिए क्लिक करे Computersciencejunction 



  

5 comments:

  1. सभी नुस्खे बहुत अच्छे ...

    ReplyDelete
  2. जी शुक्रिया !

    ReplyDelete
  3. बहुत अच्छी जानकारी.

    ReplyDelete
  4. म एडम्स KEVIN, Aiico बीमा plc को एक प्रतिनिधि, हामी भरोसा र एक ऋण बाहिर दिन मा व्यक्तिगत मतभेद आदर। हामी ऋण चासो दर को 2% प्रदान गर्नेछ। तपाईं यस व्यवसाय मा चासो हो भने अब आफ्नो ऋण कागजातहरू ठीक जारी हस्तांतरण ई-मेल (adams.credi@gmail.com) गरेर हामीलाई सम्पर्क। Plc.you पनि इमेल गरेर हामीलाई सम्पर्क गर्न सक्नुहुन्छ तपाईं aiico बीमा गर्न धेरै स्वागत छ भने व्यापार वा स्कूल स्थापित गर्न एक ऋण आवश्यकता हो (aiicco_insuranceplc@yahoo.com) हामी सन्तुलन स्थानान्तरण अनुरोध गर्न सक्छौं पहिलो हप्ता।

    व्यक्तिगत व्यवसायका लागि ऋण चाहिन्छ? तपाईं आफ्नो इमेल संपर्क भने उपरोक्त तुरुन्तै आफ्नो ऋण स्थानान्तरण प्रक्रिया गर्न
    ठीक।

    ReplyDelete

अगर आपको पोस्ट पसंद आये तो कृपया ब्लॉग का अनुसरण करें और पोस्ट पर टिप्पणी के रूप में अपने सुझाव दे !

Recent Posts